मोबाइल ऐप से मिले ऑर्डर पर 9 ऑटो से उठाते हैं घर-घर से कबाड़

कबाड़ में भी सुनहरा कॅरियर हो सकता है यह कोई सोच भी सकता. इस बिजनेस को लोग छोटा और अपने लेवल का नहीं मानते. मगर रांची के ही एक ऐसे युवा शख्स हैं जिन्होंने कबाड़ के बिजनेस से ही अपना फ्यूचर संवारा है. आज यूथ जहां नौकरी तलाशने में अपनी जवानी गुजार दे रहे है. उसी दौर में नामकुम के शुभम कुमार एक मिसाल बनकर उभरे हैं. ये खुद का व्यवसाय करने के साथ ही दूसरों को भी नौकरी दे रहे हैं. जी हां, इन्होंने नोएडा से एमबीए की पढ़ाई

कबाड़ बेचने वाले से हुई. उसकी इनकम जान शुभम ने भी कबाड़ के कारोबार में ही अपना करियर बनाने का मन बना लिया. फिर क्या, इसके बाद उन्होंने द कबाड़ी डॉट कॉम को स्थापना की और जंक सॉल्यूशन प्रा. लि. के नाम से कंपनी का रजिस्ट्रेशन कराया. शुरुआत में एक रिक्शा, एक ऑटो और तीन लोगों के साथ मिलकर घर-घर जाकर कबाड़ का कलेक्शन करना शुरू किया. आज इस कंपनी में महोने का टर्न ओवर

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Call Now Button